Latest

बन्दगी

बन्दगी तेरी बन्दगी के सिवा कोई काम नहीं हैं, इक पल का यहां आराम नहीं है। सर झुकाना मेरी फितरत में न था, झुकना सीख गया जो आसान
Read More

मानव-सेवा

मानव-सेवा ईश्वर को सब पूजते , जाते मंदिर धाम l मात-पिता के चरणों में, बसे है चारों धाम l उनकी सेवा मात्र से ,प्रसन्न हो भगवान l जन्म
Read More

मान लेना

मान लेना कल जो अश्को से रोये आँखे मेरी, मान लेना की डूबा समन्दर हैं वो। कल जो खेलो मेरे दिल से तुम खेल सब, मान लेना की
Read More

उसकी यादो का मोल

उसकी यादो का मोल समन्दर ना भर पाया अश्को को अपने अंदर में, जब कल हम उसकी यादो का पिटारा फिर से खोल बैठे ना बिका मेरा दर्द
Read More

मैं रोऊँ

मैं रोऊँ मैं रोऊँ या गम में बिखरु,अब तेरा जाता है क्या, मुझे भुला के सूने जग में,तू आखिर पाता है क्या। ## हर दिन ही रुकेगा यहाँ
Read More

मन की शांति

सब कुछ है मेरे पास l किन्तु नहीं है तो बस मन की शांति ll सब कुछ खरीद सकता हूँ मै l किन्तु नहीं खरीद पाया मन की
Read More

सफलता

बच्चों आज जो आपने सफलता पायी है उसके पीछे आपकी लगन और आपके माँ बाप का प्यार ही है जो आज आपकी मेहनत रंग लायी है ll देर
Read More

वक्त की पुकार

वक्त की पुकार जमिन अपनी नहीं, हम जमीन के है क्यों माँ पर अधिकार हम बोले यहाँ जनम इसपे हमने लिया फिर भी क्यों दुविधा से खो रहे
Read More

कोई नाराज सा है

कोई नाराज सा है मुझसे बेवजह ही, ना जाने ऐसी कौन सी खता हुई। जिसकी कोई माफ़ी ना लिखी है उन्होंने, ना जाने ऐसी कौन सी सजा हुई।
Read More

आज फिर याद आई

आज फिर याद आई इस बरसात में, बहते पानी में, बरसती बूंदों में, यूं भीगते हुए, तेरे साथ थे कभी, आज फिर से तन्हा हूं, ओर साथ में
Read More

प्रकृति चन्दन

प्रकृति चन्दन दरअसल, सत्य तो यह है की ये पंक्तियाँ अपने बेटे को स्कूल की एक प्रतियोगिता में, स्वयं कि लिखी कविता बुलवाने की जिद में लिखी थीं|
Read More

दिल का अरमान

दिल का अरमान आंसमा में आज एक, अलग ही उफान है, मिलना है प्रियतम से, जो दिल का अरमान है, पर बाधा में डाल दिया, हुई जब बरसात
Read More
error: Content is protected !!