आधी जिंदगी

आधी जिंदगी

जिंदगी कुछ नहीं है और,
ये तो है एक कच्ची डोर |
कोई साथी नहीं साथ का ,
इस आने और जाने की राह का |
जिंदगी से तुम करो न प्यार ,
क्यूकी ये तो है एक बेवफा यार |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.