एक बेनाम रिश्ता

एक बेनाम रिश्ता : हमारी लाइफ में कुछ ऐसी stories होती है, जिसे हम किसी से कह नहीं पाते, लेकिन उनका हमारी लाइफ में एक impact होता है.. कुछ ऐसे गुमनाम से रिश्ते जिसे हम छोड़ना नहीं चाहते और ना उनके साथ आगे बड़ सकते है, वही सब कुछ बयां करती कुछ पंक्तिया :

” एक बेनाम रिश्ता “

एक अजनबी अनजाना सा रिश्ता होता है,
जिसे हम हर किसी को चंद शब्दों में बता नहीं सकते,
हम तो समझते है पर किसी को समझा नहीं सकते,
लगता है कौन समझेगा हमारी इन बातो को,

रात के अँधेरे में सबसे छुप कर व्हाट्सप्प पर उनसे की हुई उन बातो को,
हर उस पल को जो हमने उसके साथ बिताया था,
वो हर उस ख्वाब को जो उसके साथ सजाया था,
हर उस पल में जब महसूस किया उसे,
वो हर घडी में जब दिल ने याद का उसे,

हर वो दिन बिलकुल भी अच्छा नहीं गुजरता,
जिस दिन उनसे मेरी बात नहीं होती,
और मुझे जरा भी अच्छा नहीं लगता,
जब बहुत कोशिशों के बाद भी उनसे मुलाकात नहीं होती,

मगर सबकी तकदीरो में वो प्यार नहीं होता,
हर साथ देखा सपना साकार नहीं होता,
हर दिन रिश्ते में आती हज़ारो मुसीबते,
और फिर उन मुसीबतो का हमारे पास जवाब नहीं होता,

ना मिल पाते ना बिछड़ पते है अजीब सी कश्मकश होती है,
दिल और दिमाग की यही आ कर तो एक जंग होती है,
दिल कुछ कहता है दिमाग कुछ और,
नहीं समझ आता किसकी सुने और किसे करे ignore,

ये दिल और दिमाग की जंग तो बरसो पुरानी है,
इसे न आज तक कोई समझ पाया है सब कुछ जानते समझते हुए भी,
ये दिमाग न कभी दिल से जीत पाया है,
ये बाते जान समझ करने क बाद तो हम भी कुछ नहीं कर सकते थे,
तो छोड़ दिए उस रिश्ते को खूबसूरत से मोड़ पर ला कर,
जिसे हम कोई नाम नहीं दे सकते थे..!!

~ Kirtish Shrotriya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.