कठपुतली

कठपुतली

जिंदगी में अनेको उतार-चढ़ाव आते है l
जीतता है वही जो ये सब सह जाते है ll
हर किसी का अच्छा समय आता है l
धैर्य रखो बुरा समय भी काट जाता हैll

मत करो घमंड, कभी अपने पैसो का l
ये पैसा तो चलती फिरती धूप-छाँव है l
आज अगर किसी ओर के पास है ये l
तो कल ये किसी ओर का गुलाम है ll

अहम् की आग में, ना जला करो l
ना जाने कब ये, तुम्हे ही जला देगी l
जिंदगी छोटी है,प्रेम प्यार से रहा करो l
ना जाने कब मौत , गोद में सुला लेगी ll

रंगमंच की है, हम सब यहाँ कठपुतली l
हम अपना-अपना किरदार निभाते है l
कोई बड़ा या कोई छोटा नहीं यहाँ पर l
सब ऊपर वाले के द्वारा नचाये जाते है ll

—————-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.