मन की सुंदरता

हर चेहरे के पीछे ,एक चेहरा छुपा होता है l
जैसा जो दिखता है वो वैसा नहीं होता है ll
ये आँखे भी कई बार धोखा खा जाती है l
जब चेहरे का दूसरा रुख पढ़ नहीं पाती है ll

हम जैसा सोचे वैसा हो ये तो जरुरी नहीं l
हर चमकती चीज़ सोना हो ये भी तो नहीं ll
किसी रूप को देखकर धोखा मत खा जाना l
पहले चेहरे के पीछे,छिपे चेहरे को पहचानना ll

किसी को उसके रूप से नहीं गुण से जानो l
रूप से ज्यादा मन की सुंदरता को पहचानो ll
रूप तो छलावा है जो एक दिन ढल जायेगा l
वही सच्चा मन जिंदगी भर साथ निभाएगा ll

खूबसूरती चेहरे में नहीं दिल में बसती है l
मन की खूबसूरती कभी नहीं ढलती है ll
मन सुन्दर तो सब सुन्दर नज़र आता है l
सच्चा मन चेहरे की खूबसूरती बढ़ाता है ll

—————————-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.