मुहब्बत

मुहब्बत

हिफाजत हर जवानी की मुहब्बत करती है
बुढ़ापे में खिदमत यही कमबख्त करती है।
मुश्किल नहीं है जिन्दगी के हर्फ समझना
उजागर हर राज यही मुहब्बत करती है।
… भूपेन्द्र कुमार दवे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.