शेरों -शायरी -6

कुछ करने की चाहत में दिन निकल रहे गिन गिनकर
कुछ ऐसा कर सजन कि चाहत मिटे हर दिन कुछ कर
सजन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*