शेरों -शायरी -7

बड़ी बात नहीं की मंजिल कब तक मिले
बड़ी बात है चलते रहने कि कोशिश चले
सजन

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*