ग़ज़ल

वक्त करवट बदल रहा कद्र कर
मुलाकात अब आंधियों से कर
जिंदगी घुट घट के जी लिया तू
कर बात खिड़कियां खोल कर
अब नहीं आता कोई हरकारा
अब न तू चिठियों की बात कर
बाग बगीचे सुने सुने दिख रहे
अब तितलियों की बात न कर
तालाब की हालात देख ली
वहाँ मछलियों की बात न कर
सारे शजर कट रहे साथियों
अब टहनियों की फिक्र न कर
मुल्क में सुरक्षित नहीं कोई
तू बेटियों की बात न कर
कवि राजेश पुरोहित
श्रीराम कॉलोनी
भवानीमंडी
पिन 326502
जिला झालावाड़
Mob.7073318074
Email 123rkpurohit@,gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.