!!

Welcome to Kavya Kosh

This is a retired Kavyakosh forum used as an archive. To access new Kavyakosh.Click here

Author Topic: एक सवाल ऊपरवाले से ....  (Read 1230 times)

Offline chandwani52

  • Sr. Member
  • ****
  • Topic Author
  • Posts: 329
  • Karma: +0/-0
एक सवाल ऊपरवाले से ....
« on: April 08, 2013, 05:50:38 PM »


Uploaded with ImageShack.us
« Last Edit: April 08, 2013, 05:53:11 PM by chandwani52 »

Offline Vishvnand

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 918
  • Karma: +0/-0
Re: एक सवाल ऊपरवाले से ....
« Reply #1 on: April 15, 2013, 10:00:35 AM »
दुनिया इक भगवान् ने लिखे हुए उपन्यास पर उन्ही ने रची हुई चलती रही फिल्म/सीरियल सी  है जिसमे हम उन्ही ने दिया हुआ अपना अपना किरदार निभा रहे हैं l. ये सब माया है कुछ शाश्वत नहीं है l . इक खेल सा है और कुछ नहीं l. सब भगवान् की मर्जी से चलता है और जो होता है अंतिम सत्य नही पर  हर इक के अंतिम भलाई के लिए ही है l. इसीलिये प्रभु की सच्ची भक्ति ही सतज्ञान प्रदान करती है और अपना यह जीवन जीने की अच्छी राह दिखाती रहती है .... ये मेरा मानना है ...

Offline pcmurarka

  • Sr. Member
  • ****
  • Posts: 398
  • Karma: +1/-0
  • Gender: Male
  • प्रेमचंद मुरारका
Re: एक सवाल ऊपरवाले से ....
« Reply #2 on: June 14, 2013, 09:29:44 PM »
बिश्वनंदजी,
शायद आपका लिखना सही हैं पर यह तो मानना ही पड़ेगा ही भगवान श्रीकृस्न ने गीताजी मे कंहा था मैं सबमे हु तो क्यो एक आदमी भूखा सोता हैं और एक झूठा फेकता हैं|
यह क्या नाइंसाफी हैं?=प्रेमचंद मुरारका

Offline tripti.mishra

  • Full Member
  • ***
  • Posts: 213
  • Karma: +10/-0
Re: एक सवाल ऊपरवाले से ....
« Reply #3 on: August 19, 2013, 03:35:40 PM »
:)