!!

Welcome to Kavya Kosh

This is a retired Kavyakosh forum used as an archive. To access new Kavyakosh.Click here

Author Topic: प्रार्थना  (Read 263 times)

Offline pcmurarka

  • Sr. Member
  • ****
  • Topic Author
  • Posts: 398
  • Karma: +1/-0
  • Gender: Male
  • प्रेमचंद मुरारका
प्रार्थना
« on: November 02, 2014, 07:59:56 PM »
माँ महालक्ष्मी  से सदा यही प्रार्थना है कि ये हाथ कभी किसी के सामाने कुछ लेने के लिए न फैले ...!! बल्कि सदा जरूरतमंद  को कुछ देने के लिए खुले और उदार रहे ...!!माँ ने हमको बहुत कुछ दिया है ... क्या हम बदले मे जरूरतमंदो की सहायत नही कर सकता  ...करके देखे दुर्लभ आत्मिक सुख मिलेगा...! ये आप पर निर्भर करता है कि आप क्या सोचते और क्या करते है !! आजकी दिवाली आपको और सभी को शुभदायक हो II

लालसा  का जुनुन एक नशा है..! जो आपको तरक्की व खुशी देता है..!! लेकिन आत्मिक ख़ुशी
नहीं दे सकता , नवरात्री के नौ दिन आपके अंतर्मन दंशन करता रहता है क्यों और किसके लिए यह पाप की गठरी उठा
रखी है, आगे ही बहुत कुछ है और और का नशा क्या मुझे शांती दे पायेगा, यह में दावे के साथ
कह सकता हु कभी नहीं। …………। सिर्फ इसलिए यह नवरात्रि की मान्यता है, जो नौ दिन सच्चे
मन एकाग्रता से माँ का पूजन करता है उसे हर सुख की प्राप्ती होती है I आइये सब मिलकर नवरात्री
का पूजन तन और मन से करे I
प्रेमचंद मुरारका