Love Story – अवनि और आकाश

Love Story – अवनि और आकाश

अवनि और आकाश स्कूल मे साथ मे पढ़ते थे; आकाश, अवनि को बहुत प्यार करता था और अभी भी शायद उतना ही करता हे| अवनि भी आकाश को प्यार करती थी पर अवनि अपने पापा के डर के कारण आगे नही बढ़ी| बस उनका प्यार शायद यही था, शायद सच्चा प्यार हमेशा अधूरा रहता हे| आकाश को बस एक ही बात का अफ़सोस था की वह अवनि को अपनी दिल की बात न बता पाया , पर इस जीवन मे लगभग यह अब असंभव हे, वो जब कभी भी भगवान से प्रार्थना करता था तो बस एक ही बात कहता की, “मेरी एक मुलाकात अवनि से .करा दे मैं उसे अपनी सारी दिल की बात बताना चाहता हूँ,”
आकाश के पापा भी अब इस दुनिया मे नही रहे, वो अपने पापा को भी बहुत प्यार करता था, एक बार आकाश ने अपने पापा को प्रार्थन की की “पापा भगवान को बोलो ना की मेरी एक मुलाकात अवनि से करा दे मैं उसे एक बार मिलना चाहता हूँ,

ये सब अतीत था, वर्तमान मे आकाश और अवनि दोनो अपनी अलग अलग जिंदगी जी रहे हें, दो नो अंपनी जिंदगी मे खुश भी हे|
लेकिन एक दिन फेस बुक पर आकाश की मुलाकात उसकी सबसे प्रिय दोस्त अवनि से हुई, करीब बिस साल बाद | ऐसा लग रहा था की धरती कई सालो से बारिस का इंतजार कर रही हो और आकाश से मानो अचानक बारिस की बूंदे टपकने लगी |आकाश ने सपने मे भी नही सोचा थाकी अवनि से ऐसे फेस बुक पर मुलाकात होगी दोनो मानो अपनी अधूरी बाते पूरी करनेको बेताब थे,आकाश और अवनि दोनो करीब एक माह से फेस बुक पर बात कर रहे थे, आकाश और अवनि ने ढेरो सारी बाते की, मानो दोनो स्कूल के दीनो मे वापिस चलेगये, आकाश ने ये एक माह मे मानो पूरई जिंदगी जिली | पर अचानक अवनि ने आकाश से बात करना बंद कर दिया, अवनि ने आकाश को फेस बुक पर ब्लॉक जो कर दिया, कारण सिर्फ़ अवनि को पता हे|

लेकिन आकाश ने अपनी दिल की सारी बातें अवनि को बता दी, जो वो कभी अवनि को प्रत्यक्ष न कह पाया, अवनि को पता नही था की आकाश उसे इतना प्यार करता हे, पर अब इन बतो का कोई मतलब नही| अवनि, आकाश की बाते सुनकर आहत हुई, और आकाश से क्षमा भी माँगी | आकाश ने सुंदर जवाब दिया ” जिंदगी मे कुछ न पाना उतना ही महत्वपूर्ण होता हे जितना कुछ पाना” |

एक दिन अनायास ही आकाश की मुलाकात अवनि से होती हे, अवनि अपनी मम्मी और बहन के साथ शाम को टहले निकलती हे तभी आकाश का वहाँ से निकलना होता हे, आकाश हिम्मत करके बात करता हे पर आकाश घबरा जाता हे और अवनि की मम्मी को नमस्ते करता हे, अवनि का भी वो ही हाल हे जो आकाश का हे, आकाश और कुछ बात करने की हिम्मत करता आकाश वहाँ से निकल जाता हे|

आकाश उस रात अवनि को मोबाइल पर संदेश भेज ता हे की, मैं केसा भी हूँ, हूँ तो दोस्त ही| आकाश को लगा की अवनि ने बात नही की पर अवनि अपनी जगह सही थी, वह लड़की थी वह बात करती भी तो क्या करती अपनी मम्मी के सामने|

पर दूसरे दिन तो मानो आकाश का भाग्य ही चमक गया, अवनि की बहन आकाश को फोन कर के मिलने को बुलाती हे, आकाश ने कभी सपने मे भी नही सोचा होगा की इस जन्म मे अवनि से मुलाकात होगी| जब दोनो की मुलाकात होती हे, आकाश, अवनि को डर ते डर ते कहता हे ” हेलो” पर अवनि उसे अनसुना कर देती हे, फिर आकाश कहता हे ” हेलो” पर अवनि उसे दुबारा अनसुना कर देती हे, फिर आकाश, अवनि से कहता हे जवाब तो दो, अवनि कहती हे हेलो, दोनो एक दूसरे के सामने देखे बिना जवाब देते हें,

जब अवनि कँहि दूसरी और देखती हे तब आकाश अवनि को देखने की कोशिश करता हे और जब आकाश कँहि दूसरी और देखता हे तब अवनि आकाश को देखने की कोशिश करती हे, दोनो का व्यवहार वही बीस साल पहले जेसा, थोड़ी मीट्ठि तकरार भी हो ती हे, वो दोनो जब अतीत मे भी कभी मिलते थे तकरार ज़रूर होती थी, उनकी बाते ही लड़ाई झगड़े से ही होती थी, मानो दोनो स्कूल मे किसी बात पर झगड़ रहे हो, मानो बीस साल पहले जेसा नज़ारा, दोनो मे कोई बदलाव नही, उनका व्यवहार बता रहा था की दोनो एक दूसरे को कितना प्यार करते हे, आकाश अवनि से उतना ही डरता हे जितना पहले डरता था, आकाश का डर ही बता रहा था की वो अवनि को कितना प्यार करता हे| अगर अवनि को कुछ कहना होता आकाश को तो अपनी बहन की और मुँह कर के कहती मानो आकाश को वह जानती ही नही जब की बाते आकाश से करती हे, और यही हाल आकाश का था | मानो दोनो बिना बोले बाते कर रहे थे,

आकाश मन ही मन ये सोच रहा था की समय आज रुक जाए, पर समय रुकता नही, और . जुदाई का समय आ गया|
अवनि की बहन कहती हे चले, आकाश बिना मन कहता हे ओके चलो, आकाश कहे तो भी केसे कहे की रूको|
आकाश अपनी दोस्त अवनि से आँखे झुका के बाए कहता हे, अवनि भी वही अंदाज मे प्रतिक्रिया देती हे|

पर आकाश के लिए ये मुलाकात बहुत महत्वपूर्ण थी, मानो उसे सब कुछ मीलगया था, अब आकाश के जीवन मे कोई भी आशा या प्रत्याशा नही हे , मानो आकाश ने अपना जीवन् जी लिया| उसने अपने दिल की सारी बाते जौ अवनि से कह दी, और दोनो जुदा हो जाते हें हमेशा के लिए, क्योकि आकाश और धरती का कभी मिलन नही हो सकता ……

Advertisements

One Reply to “Love Story – अवनि और आकाश”

  1. I like it superb AVANI Akash love story
    One thing can learn what ever we want everything not achieved by human beings if at lest try …same for Akash he should try to proposed her to right time not an after time goes out
    good rajiv bhai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*